Monday, November 26, 2007

रोहित प्रकाश


रोहित प्रकाश

4 comments:

अविनाश said...

क्‍या ये कविवर रोहित प्रकाश की पेंटिंग है?

Pramod Ranjan said...

नहीं भाई , तस्‍वीर ही है, क्‍यों एक युवा कवि को पेंटिंग में टांग देना चाह रहे हैं ?

Rohit said...

tasbir ho ya painting,hata hi dein,bade logo ke bich me apni shakl kuch aparichit si lag rahi hai.avinah iske aadi hain,main yogya nahin hoon.

Anonymous said...

क्या ये कवि हैं या युवा कवि हैं या रोहित हैं या प्रकाश हैं...कृपया इसे स्पष्ट किया जाए. जिंदाबाद.